Subscribe Us

पढ़ा हुआ याद कैसे रखे - Padha Hua Kaise Yaad Rakhe

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने वाले है की पढ़ा हुआ याद कैसे रखे Padha Hua Kaise Yaad Rakhe क्युकी इस दुनिया में ऐसे बहुत कम लोग है जीने पढने के बाद पूरा टॉपिक याद रहता है क्युकी दोस्तों हम पढाई तो बहुत करते है पर हमें याद बहुत कम रहता है या हम उसे भूल जल्दी जाते है तो हम यह सोचते है कि पढाई करने का मतलब क्या निकलता है क्युकी हमारी सारी मेहनत बेकार हो जाती है |

padha hua kaise yaad rakhe

तो दोस्तों अगर आपको भी पढ़ा हुआ याद नहीं रहता है और आप बार बार उस प्रश्न या उस टॉपिक को याद कर कर के थक गए है और आप यह सोच रहे है की आपका दिमाग ही कमजोर है तो आप गलत है क्युकी सभी की याद करने की क्षमता समान होती है और सभी का दिमाग भी समान रहता है तो आपको यह नहीं सोचन है की आपका मित्र उस प्रश्न को जल्दी से याद कर लेता है तो उसका दिमाग तेज है बस उसकी उसके याद करने का तरिका आपके याद करने से बेहतर है |

padha hua kaise yaad rakhe


दोस्तों अगर आपका दिमाग अगर हर किसी भी बात या चीज को याद करने लग गया तो एक दिन में हमारे साथ कितनी घटनाएं होती है कितने काम करते है और सब याद हो जाये तो हमारे दिमाग का तो गुड - गोबर हो जायेगा तो इसी कारण से हमारे शरीर की बनावट ही कुछ इस तरीके की होती है की बिना काम की किसी भी बात को वह याद नहीं रखता है और इसी बिच वह जो याद रखने की बाते भी भुला देता है |

पर वैसे हमारा मैंन टॉपिक है उसी से जुडी आपको जानकारी देते है कि पढ़ा हुआ याद कैसे रखे या जल्दी से जल्दी याद कैसे करे क्यकी अब से परीक्षा के डोर शुरू हो हो चुके है तो आप सभी को हम आपको जल्दी से जल्दी याद कैसे करे और सही पढाई करने का तरीका क्या है और कैसे याद किया जाता है सारी जानकारी आपको बताने वाले है तो आपको इस पेज को अंत तक जरुर पढना है जिससे आपको सही जानकारी मिल सके |

अगर आपको सही पढ़ें का तृकां पता चल जायेगा तो आपका समय और Result भी अछे से अच्छा आएगा तो आपको हमारे द्वारा बायी गई टिप्स को जरुर फोलो करनी है जिससे आपको सटीक से सटीक याद रह सके दोस्तों की जैसा की हम सभी को पता है को पढ़ा हुआ 100% याद रखा नामुनकिन है पर हम उसका 75% करने की आपको याद करवाने की कोशिश करेंगे |

मै आज आपको 3 तरीके बताने वाला हु जिससें पर आपने कई बार Youtube और Google पर भी सर्च करके देखा होगा की जिसमे आपको कई सरे टिप्स बताये गए होने पर आअज में जो आपको बताने वालाहु उसे मैंने अपने खुद पर और अपने जीवन में अनुभव किया है तो मुझसे बेहतर इससे कोई और नहीं समझ सकता है की इस टिप्स के कितने फायदे है तो एक बार आप इन टिप्स को फोलो जरुर करे |

1. Study Lass Study Good


इस टिप्स का अर्थ है भले आप कम पढो पर अछा और मन लगाकर पढ़िए जिससे आपको याद रह सके जैसे की vilfredo pareto के द्वारा एक सिद्धांत दिया जिसको 80-20 का नियम कहते है ! vilfredo pareto ने बताया की यह संसार में पाए जाने वाली सभी वस्तुओ में पाया जाता है |

vilfredo pareto का कहना था की आपका 20% efforts आपक्वे 80% result में परिवर्तित होते है अगर सामान्य शब्दों में अगर इसे समझे तो आप 20% आप किसी भी वास्तु या टॉपिक पर कीजिये और आपको बाकि बचा हुआ 80% ऐसे ही समझ में आता जायेगा |

यह नियम हम पर भी लागु होता है अगर हम अपने मन से किसी भी टॉपिक को 20% पूरा कर लेते है तो बाकि 80% हमें जैसे - जैसे आप आगे पढ़ते जायेंगे आपको समझ में आता जायेगा तो आपको भी आपको अपने 20% पर ही ध्यान को केंद्रित करना जिससे आपको रिजल्ट 80% मिल सके |

तो अब से आपको यह ध्यान रखना है कि आपको आपके किसी भी विषय का महत्वपूर्ण 20% सिलेबस को एक बार परीक्षा से पहले पूरा कर लेना है जिससे आपका 80% कंफर्म हो सके

दोस्तों मैंने भी कई बार यह गलती की है कि हम को जितना भी पढ़ना होता है उससे कई गुना ज्यादा हम हम पढ़ लेते हैं माने अगर मैंने सिलेबस का 80% पढ़ लिया उसका कोई भी अर्थ नहीं निकलने वाला है क्योंकि मैंने जो पढ़ा है वह सिर्फ सिलेबस को पूरा करने के लिए पड़ा है ना कि उस सिलेबस को समझने के लिए तो आपको यह गलती नहीं करनी है आपको उतना ही पढ़ना है जितना आपको समझ में आ रहा है

हो सके तो थोड़ा थोड़ा आप अपने किसी भी विषय को पढ़िए गा जिससे आपको उस विषय वस्तु को आप पूरा ध्यान केंद्रित करके पढ़ सके

अगर आप की परीक्षा में ज्यादा समय नहीं बचा है तो आप महत्वपूर्ण प्रश्नों और उनके जवाबों को पढ़ सकते हैं जिससे आपका रिवीजन 1 तरीके से सही हो सके

2. Study In Morning


दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते हैं हम क्या करते हैं कि कई बार पूरा दिन भर पढ़ते ही रहते हैं पर जैसे ही हम उस विषय के बारे में हमको कितना याद रहा यह देखते हैं तो उस विषय को हमने अगर 5 घंटे पड़ा है और मान लीजिए अगर हमने उस विषय को 100% पूरा कर लिया है तो हमें मात्र 25% ही याद रहता है|

अगर आप उसी विषय को सुबह 4:00 बजे उठकर 2 घंटे ही पढ़ते हैं तो आपको उस विषय का 75% से भी अधिक हमें याद रखता है इसके कई सारे कारण होते हैं जिसे हम आज आपको बताने वाले हैं और आपको बताने वाले हैं कि आपको कब पढ़ना चाहिए |

A . सुबह में पढ़ने के मुख्य कारण


1. जैसा कि हम सभी जानते हैं सुबह का माहौल काफी शांत होता है और इसी वजह से हमारा जो मन होता है वह भी एकदम शांत होता है जिससे हम जिस भी विषय के बारे में पढ़ते हैं वह हमें आसानी से याद रह जाती है |

2. एक बात तो हम सभी जानते हैं कि हमारे शरीर को आराम करने की काफी आवश्यकता होती है और यह बात हमारे मस्तिष्क पर भी लागू होती है अगर हमारे शरीर को आराम नहीं मिलता है तो वह सही तरीके से कार्य नहीं कर पाता है उसी तरीके से अगर हमारे दिमाग को आराम नहीं मिलता है तो वह सही तरीके से कार्य नहीं करता है

जैसे कि हम आपको एक उदाहरण से बताते हैं मान लीजिए आप कोई काम पूरा दिन भर कर रहे हैं और आपको आराम करने का मौका नहीं मिल रहा है तो आपको कैसा महसूस होगा और अगर आप उस काम के बीच में 5 से 6 घंटे आराम कर लेते हैं उसके बाद आपको उस काम करने में तीव्रता आप देख सकते हैं अगर आप आराम करके उठते हैं तो उस काम को आप दीजिए से करेंगे या आप सोच सकते हैं और देख भी सकते हैं

तो आपको यह पता चल चुका होगा कि सुबह क्यों पढ़ना चाहिए


3. जैसा कि हम सभी जानते हैं सुबह अगर हम उठकर पढ़ते हैं तो हमें परेशान करने वाला कोई भी नहीं होता है ना ही किसी भी प्रकार का हमको व्हाट्सएप स्टाग्राम फेसबुक या अन्य किसी प्रकार का सोशल मीडिया साइट हमें परेशान करता है और ना ही हमारे घर के किसी भी सदस्य पढ़ाई के बीच में हमें कोई कार्य को बताता है |

तो सभी विद्यार्थियों हम सभी के लिए एकदम सर्वोत्तम और उत्तम समय जो होता है वह सुबह का समय होता है तो आपको यह ध्यान रखना है आपको पूरा दिन ना पढ़कर सुबह आपको एक से 2 घंटे पहले उठकर पढ़ना है जिससे आपको अधिक से अधिक याद रख सके और आपका जो मस्तिष्क के हैं एकदम सही तरीके से कार्य करें

3. पढ़ाई के बीच में करें थोड़ा घूमना फिरना


जैसे की हम सभी जानते हैं दोस्तों विद्यार्थी होते हैं जो पूरा दिन पढ़ते ही रहते हैं पर आराम को हराम मानते है तो दोस्तों आपको ऐसा नहीं करना है हमारे शरीर को कार्य करने के लिए आराम की भी जरूरत होती हैं और आप सभी को पता होगा हमारा जो ध्यान होता है यानी की एकाग्रता होती हैं वह 25 मिनट से 1 घंटे से ज्यादा नहीं होती है

तो आपको हमेशा यह ध्यान रखना है कि 1 घंटा पढ़ने के बाद 5 मिनट का ब्रेक जरूर लेना है और 5 मिनट में आप खाना खा सकते हैं घूम सकते हैं अपने मम्मी पापा से बात कर सकते हैं या फिर आप बचा हुआ वह सभी कार्य कर सकते हैं जिसमें आपके शरीर को थोड़ा आराम मिले आपके दिमाग को कम सोचना पड़े जिससे आपके दिमाग को थोड़ा आसानी से समझ आ सके


दोस्तों हमने आज आपको तीन प्रकार की बातों को सामान्य भाषा में समझाया मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा बताई गई सभी प्रकार की जानकारी और याद रखने जुड़ी सभी जानकारी आपको पसंद आई होगी

Post a Comment

1 Comments