कबड्डी के खेल का इतिहास एवं कबड्डी के नियम की जानकारी - Pro kabaddi

आज भारत ही नहीं पुरे विश्व में कबड्डी का खेल खेला जाता है और जब से भारत में Vivo Pro Kabaddi league की शुरुआत हुई है क्रिकेट के IPL के बाद सबसे ज्यादा देखे जाने वाला खेल विवो प्रो कबड्डी ही बन गया है

कबड्डी के बारे में जानकारी


तो आज हम इसी खेल के बारे में जानने वाले है क्युकी यह खेल दिन प्रतिदिन लोगो में प्रसिद होता जा रहा है पर लोगो को आज भी कबड्डी के बारे में जानकारी नहीं है जैसे कबड्डी के नियम क्या है और कबड्डी का ग्राउंड कितना बड़ा होता है इस खेल में कितने खिलाडी होते है रेडर और डिफेंडर क्या होता है तो आज हम इस आर्टिकल के माद्यम से आपको सभी प्रकार की जानकारी देने वाले है जिसके बाद आप इस खेल के बारे में अधिक जान सके |

कबड्डी का इतिहास


जब भी हमारे मन में ख्याल आता है की यह खेल किस देश का है और इसकी शुरुआत कहा से हुई है क्युकी 2014 से पहले इस खेल को ज्यादातर नहीं खेला जाता था अगर किसी को पूछा जाता तो वह खो - खो या क्रिकेट का नाम बताता पर जब से प्रो कबड्डी लीग (PKL) की शुरुआत है आज बच्चे - बच्चे की जबान पर कबड्डी का नाम है

तो आपको जानकर ख़ुशी होगी की यह एक भारतीय खेल है और Kabaddi की शुरुआत सबसे पहले Tamil Nadu में हुई थी जो धीरे - धीरे भारत के बाकि सभी राज्यों में प्रसिद होता गया Kabaddi शारीरिक और मानशिक दोनों तरह का खेल है इस खेल के सबसे पहले नियम 20वी शताब्दी के शुरुआत में दक्कन जिमखाना के द्वारा बनाये गए थे

इसके बाद Kabaddi का फैलाव बाधा और हिन्द विजय जिमखाना बड़ोदा ने Kabaddi के नियमो को अखिल भारतीय प्रतियोगिता के समय 1923 में छपवाया इसका कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन बड़ोदा में करवा गया था

इसके पश्चात कबड्डी के खेल के नियम में 1934 में संसोधन किया गया यह संसोधन अखिल महाराष्ट्र शारीरिक परिषद् के द्वारा किया गया था |

कबड्डी संघ की स्थापना


भारत में कबड्डी संघ की स्थापना 1950 में हो गई थी जिसका नाम भारतीय कबड्डी संघ (kabaddi federation of india) रखा गया था जिसका Headquarter को कोलकाता में रखा गया

जिसके बाद भारतीय कबड्डी संघ को पुनर्गठित किया गया जिसका नाम बदलकर Amateur Kabaddi Federation of India रखा गया जिसे (AKFI) के नाम से जाना जाता है

इसके बाद एशिया अमैच्योर कबड्डी फेडरेशन का भी गठन किया गया इसक गठन 1978 में हुआ जिसे AAKF के नाम से जाना जाता है |

विश्व की सबसे पहली कबड्डी प्रतियोगिता को कलकाता में 1987 में SAF Gamer के द्वारा करवाया गया था और विश्व कबड्डी संघ यानि International Kabaddi Federation जिसे I.K.E के नाम से जाना जाता है जिसकी स्थापना भारत में mumbai में की गई है पर इसका हेडक्वार्टर को राजस्थान के जयपुर में रखा गया है

कबड्डी के नाम


1. जैसा की हमने आपको बताया की यह पुरे विश्व में खेला जाने वाला Game है तो हर जगह पर इसको अलग अलग नामो से जाना जाता है तो आज हम kabaddi के विभिन्न नामो के बारे में जानने वाले है की किसी जगह पर कबडडी को किस नाम से जाना जाता है

जैसा की हम सभी को पता है की भारत में हर वस्तु का अलग - अलग नामों से जाना जाता है क्युकी भारत में भाषायें भी इतनी बोली जाती है कबड्डी को भी अलग - अलग जिलो राज्यों में अलग - अलग नामो से जाना जाता है और कबडडी खेल भी विश्व में खेला जाता है तो इसको अन्य देशो में भी अलग अलग नामों से जाना जातां है तो आज हम कबड्डी को किन किन नामों से जाना जाता है इसके बारे भी जानने वाले है

2. भारत के इन राजो में कबडडी को हु तू तू कहा जाता है - महाराष्ट्र, गुजरात और मद्यप्रदेश

3. तमिलनाडु और मैसूर में कबड्डी को चुडडू - चुडडू के नाम से जाना जाता है

4. केरल और बंगला में इसे हे डू डू के नाम से जाना जाता है

5. उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में कबडडी को kabaddi के नाम से ही जाना जाता है |

6. तमिलनाडु तेलगाना और कर्नाटका एवं आंद्रप्रदेश में इसे चेडूगुडू के नाम से जाना जाता है

7. जैसा की हमसे आपको पहले भी बताया है की kabaddi को दुसरे देशो में भी खेला जाता है तो वहा पर भी अलग - अलग नामो से kabaddi को जाना जाता है |नेपाल में kabaddi को डो- डो के नाम से जाना जाता है | पाकिस्तान में कबडडी को kabaddi के नाम से ही जाना जाता है इसी तरह बांग्लादेश में भी कबड्डी को हु - टू - डू के नाम से जाना जाता है

8. इण्डोनेशिया में कबड्डी को चब के नाम से जाना जाता है और मालदीप में इसे भावती के नाम से जाना जाता है भले इस खेल के नाम हर राज्य हर देश में अलग है पर इस खेल के नियम और ग्राउंड बनाने का तरीका वही है |

कबड्डी खेल के प्रकार

जैसा की हमने आपको बताया की kabaddi game कई जगह पर खेली जाती है तो इसके प्रकार और नियम भी अलग अलग होते है तो आगे हम कबड्डी खेल के प्रकार के बारे में जानने वाले है इसेक कितने प्रकार है और कबड्डी के कितने नियम है |

1. Gaminee Kabaddi


गामिनी kabaddi संजीवनी kabaddi से बिल्कुल अलग है इस कबड्डी में एक टीम में सामान्य kabaddi की तरह ही 7 खिलाडी ही होते है पर इस में एक अलग नियम यह होता है की एक तो इसकी कोई समय सीमा निश्चित नहीं होती है यह तब तक खेला जाता है जब तक पहली टीम किसी भी दूसरी टीम को 7 बार से ज्यादा हरा ना दे और इस कबडडी को अलग यह भी बनता है की अगर कोई खिलाडी अगर आउट हो जाता है तो वह वापस तब तक नहीं आ सकता है जब तक उसकी पूरी टीम आउट न हो जाये |

2. Sanjeevani kabaddi


संजीवनी कबड्डी काफी लोकप्रिय kabaddi है अगर आपको पता नहीं हो तो आप जो vivo pro kabaddi live देखते है वह भी इसी प्रकार की kabaddi है इस कबडडी की बात करे तो यह कुछ इस प्रकार के नियम पर चलती है अगर किसी भी विरोधी टीम के खिलाडी को अगर कोई रेडर टच कर लेता है यानि छु लेता हैतो वह आउट माना जाता है

और उसके जाने के बाद रेडर की टीम का एक खिलाडी वापस आ जाता है यह खेल vivo pro kabaddi league 2022 की तरह ही 40 मिनट तक खेला जाता है इसमें भी vivo pro kabaddi की तरह एक टीम में 7 खिलाडी ही मोजूद होते है | इस खेल भी 2 हाफ में खेला जाता है और प्रतेक हाफ के बाद 5 मिनट का ब्रेक मिलाता है |

3. Amar Kabaddi


अमर कबडडी में भी कुछ नियम Gaminee Kabaddi की तरह इसमें भी किसी भी प्रकार की समय सीमा को निर्धारित नहीं किया जाता है इसमें आपको बता दे तो यह Sanjeevani kabaddi और Gaminee Kabaddi दोनों से बिल्कुल अलग है क्युकी इसमें अगर कोई रेडर किसी भी विरोधी टीम के खिलाडी को टच कर लेता है तो वह आउट नहीं माना जाता है और वह खेल में ही रहता है पर विरोधी टीम को टच करने का विवो प्रो कबड्डी की तरह ही एक points मिलता है

4. Circle Kabaddi


इस कबडडी को पंजाबी कबडडी के नाम से भी जाना जाता है क्युकी यह पंजाब राज्य में सबसे ज्यादा खेली जाती है और आपको बता दे की यह एक व्रत के अन्दर खेला जाता है और उस व्रत का व्यास 22 मीटर होता होता है यानि 72 फिट आपको बात बता दे की इस kabaddi के भी तीन प्रकार है जिसका नाम 1. सोची कबडडी 2. लम्बी कबडडी 3. गूंगी कबडडी और Circle Kabaddi को भी कई तरीको से खेला जाता है |

Measurement Of Kabaddi Court For Men & Junior Boys Measurement Of Kabaddi Court For Men & Junior Boys

कबड्डी के नियम


kabaddi के इस खेल में सबसे बड़ा सवाल यह है की इसमें खिलाडी (Players) कितने होते है तो आपको बता दे की एक kabaddi के मैदान में जो खेल होता है वह 14 खिलाडियों के बिच होता होता है जिसमे 2 टीम होती है दोनों टीम में 7 - 7 खिलाडी होते है पर एक टीम में 7 खिलाडी खेलते है और 5 खिलाडी एक्स्ट्रा होते है यदि की एक टीम में सभी खिलाडियों को मिलकर 12 Players होते है पर kabaddi के खेल में सिर्फ 7 खिलाडी ही एक मेच में खेल सकते है |

कबड्डी मेच की समय सीमा - महिला kabaddi और पुरुष कबडडी की समय सीमा अगल होती है अगर पुरुष के खेल की बात करे तो यह 20 - 20 मिनट की दो पारियो में खेला जाता है और इस दो पारियों के बिच 5 मिनट का ब्रेक होता है |

पर अगर महिला kabaddi खेल की बात करे तो इसमें भी 2 पारियों में खेल होता है पर इसमें 20 - 20 मिनट के खेल की बजाय 15 - 15 मिनट का खेल होता है |

खिलाडियों के युनिफोर्म के बारे में जानकारी


अगर आपने कभी विवो प्रो कबड्डी लीग को देखा होगा तो प्रत्येक प्लेयर के कपड़ो पर एक नंबर लिखा होता है जिसके भी नियम होते है उन नंबर की मोटाई और चौड़ाई भी सही होना जरुरी है

प्लेयर के टीशर्ट पर आगे की तरफ लिखे नंबर की चौड़ाई 4 इंच से कम नहीं होनी चाहिए और प्लेयर के पीछे की और लिखे नंबर की चौड़ाई लगभग 6 इंच से कम नहीं होनी चाहिए

Rules Of kabaddi

1. प्रत्येक kabaddi team का ड्रेस कोड होना जरुरी होता है |

2. इस खेल में खिलाडियों के नाख़ून नहीं होने चाहिए

3. kabaddi के खेल के समय कोई भी खिलाडी किसी भी प्रकार की चिकनी वस्तु जैसे तेल क्रीम आदि को अपने शरीर पर नहीं लगा सकता है

4. kabaddi का कोई भी खिलाडी किसी भी प्रकार का कड़ा या अंगूटी नहीं पहन सकता है क्युकी इससे विरोधी टीम के kabaddi Players को चोट लगने का खतरा होता है

Substitution

1. हमने विवो प्रो कबड्डी कई बार Substitution का नाम सुना है पर हमें इसके बारे में जानकारी नहीं होती है तो आपको बता दे की एक टीम एक मैच में 5 बार ही Substitution कर सकती है यानि खेल रहे खिलाडी को बहार भेजकर बहार बेटे एक्स्ट्रा प्लेयर को अन्दर लाया जाता है |

2. अगर किसी भी प्लेयर को ससपेंड कर दिया जाता है तो उस खिलाडी को वापस मैच में नहीं लाया जा सकता है

3. आपको बता दे की आउट हुए खिलाडी के बदले में Substitution नहीं लिया जा सकता है |

4. Substitution तभी लिया जा सकता है जब टाइम आउट हुआ हो या इंटरवेल हुआ हो या रेड ख़तम हो गई हो तभी Substitution की प्रकिया को पूरा किया जा सकता है |


Kabaddi Time Out


1. हमने कई बार टीम को Time Out लेते देखा है अगर Kabaddi Time Out की बात करे तो प्रयेक टीम को 30 - 30 सेकण्ड के 2 टाइम आउट दिए जाते है

2. Time Out किसी भी प्लेयर के द्वारा या रेफरी के द्वारा माँगा जा सकता है और वह मेच जे टाइम में जोड़ दिया जाता है साथ ही Time Out के समय अगर को खिलाडी खेल के मैदान के बाहर चला जाता है तो सामने वाली विरोधी टीम को 1 Technical Point दिया जायेगा |

Post a Comment

0 Comments